Hindi Stories

Best motivational stories in Hindi बुरे समय में क्या करे

motivational stories दोस्तों भीड़ हमेशा उस रास्ते पर चलती है जो रास्ता आसान लगता है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि भीड़ हमेशा सही रास्ते पर चलती है अपने रास्ते खुद चुनिए क्योंकि आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता

बुरा समय हर इंसान की जिंदगी में आता है ऐसे समय में कुछ लोग कमजोर पड़ जाते हैं कुछ लोग कठोर हो जाते हैं साथ ही साथ कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो बुरे समय में भी अवरों को ढूंढकर बुरे समय से बाहर निकल आते हैं इसी बात को अच्छी तरीके से समझाने के लिए मैं आपको एक कहानी सुनाता हूं

एक बार की बात है एक टीचर कक्षा में आए सभी बच्चे कुछ उदास लग रहे थे टीचर ने सभी से कारण पूछा बच्चे बोले सर हमारा बुरा समय चल रहा है हमारे ऊपर एग्जाम के कारण बहुत ही प्रेशर है

यह सुनकर वह अध्यापक हंसने लगे उसने सभी बच्चों से कहा तुम कुछ देर के लिए शांत रहना मैं अभी आता हूं कुछ देर बाद अध्यापक क्लास में आया उसके हाथ में एक थैला था और 3 ब्रनर वाला एस्टॉक और 3 बर्तन थे

अध्यापक ने सभी को अपने पास आने को कहा इसके बाद उन्होंने स्टाफ को चलाया और तीनों बर्तन उस पर रख दिए सभी में बराबर बराबर पानी डाला गया इसके बाद अध्यापक में थैली में से एक आलू निकालकर पहले बर्तन में डाल दिया दूसरे बर्तन में उन्होंने एक अंडा डाल दिया

और तीसरे बर्तन में उन्होंने कॉफी डाल दी जब पानी पूरी तरह से उड़ने लगा अध्यापकों को बंद कर दिया अध्यापक ने एक बच्चे को अपने पास बुलाया और उससे पूछा पहले बर्तन से आलू निकालो और देखो आलू निकालने के बाद वह बोला सर आलू पहले तो कठोरता लेकिन उबलने के बाद नरम हो गया है

अब उस अध्यापक ने दूसरे बर्तन से अण्डा निकालने को कहा वह बच्चा बोला सर अण्डा उबलने के बाद कठोर हो गया है अब अध्यापक ने बच्चों से उस बर्तन को देखने को कहा जिसमें काफी डाली हुई थी उस बर्तन में से बहुत ही अच्छी सुगंध आ रही थी

इसके बाद अध्यापक ने बच्चों को समझाया इन तीनों चीजों को एक ही तकलीफ से होकर गुजरना पड़ा तीनों को एक ही समान पानी में एक ही समान आंच पर उबाला गया इसके बाद भी हर एक ने अलग-अलग तरीके से रीयेक्ट किया

आलू पहले तो ठोस था लेकिन पानी में उबलने के कारण वह नरम हो गया यानी कि कमजोर पड़ गया अण्डा पहले उपर से सख्त था लेकिन अंदर से नरम था मुसीबत आने पर वह उस मुसीबत को झेल गया लेकिन अंदर से बदल गया कॉफी के सामने आई मुसीबत का इसने दठ कर सामना किया और उसे अपनी सुगंध में बदल दिया

दोस्तों इस motivational stories से मै यह समझाना चाहता हूं कि बुरे समय में कुछ लोग कमजोर पड़ जाते हैं कुछ लोग उनका सामना तो कर लेते हैं लेकिन अंदर से कठोर बन जाते हैं लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अवसरों को पहचान कर सभी के साथ घुलमिल जाते हैं और अपनी पॉजिटिव थिंकिंग कि सुगंध चारों तरफ फैला देते हैं सफलता और असफलता आपकी सोच पर निर्भर करती है साथ ही साथ आप को मिले अवसर का आप पर किस तरीके से इस्तेमाल करना आता है यह भी पता चलता है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button