Breakup Shayari

Breakup Shayari

जरूरी नहीं की हर बात पर तुम मेरा कहा मानों,
दहलीज पर रख दी है चाहत,
आगे तुम जानो!!

पानी नही देना था तो पेड क्यूं लगाया
मोहब्बत नही करना तो दिल क्यू लगाया।।

सुनना चाहते है एक बार आवाज
उनकी मगर बात करने का बहाना
भी तो नहीं आता मुझे!!

ज़्यादा कुछ नहीं बदला उसके और मेरे बीच,
पहले नफरत नहीं थी और अब प्यार नहीं है!!

किसी ने पूछा इतना अच्छा कैसे लिख लेते हो,
मैंने कहा दिल तोड़ना पड़ता है,
लफ़्ज़ों को जोड़ने से पहले।

फिर किसी मोड़ पर मिल जाऊँ तो मुहँ फेर लेना तुम,
पुराना इश्क़ हूँ, फिर उभरा तो कयामत होगी!!

कितनी आसानी से कह दिया तुमने की बस अब तुम मुझे भूल जाओ
साफ – साफ लफ्जो मे कह दिया होता की बहुत जी लिये अब तुम मर जाओ

क़दर करलो उनकी जो
तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और
तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है

बेवफा कह के बुलाया तो बुरा मान गये,
आइना सामने आया तो बुरा मान गये,
उनकी हर रात गुजरती है दिवाली की तरह,
हमने एक दीप जलाया तो बुरा मान गये!

Breckup hindi shayari 

सिर्फ़ दो ही गवाह थे मेरी वफ़ा के,
एक वक्त जो गुज़र गया और एक वो जो मुकर गया!!

1 2 3 4 5Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button