Love Shayari

Love Shayari

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर…
तेरे सामने आने से ज़्यादा
तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है …!!!

हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की,
बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..

प्यार करते है तुमसे
खुद से ज्यादा
हद से ज्यादा सबसे ज्यादा

खुदा ने जब इश्क़ बनाया होगा.. तो खुद आज़माया होगा.. हमारी तो औकात ही क्या है.. इस इश्क़ ने खुदा को भी रुलाया होगा !!

बन्धन हो तो ऐसा हो,
*जो प्रतिबिम्ब के जैसा हो…
*मैं देखूँ तो तुझको पाऊँ
*तू देखे तो मैं दिख जाऊँ..

तुम सोच भी नही सकते
हुम कितना सोचते है तुम्हे

फसला रखके क्या कर लिया तुमने
रहते तो आज भी दिल हो तुम मेरे

किसी को चाहो तो इस अंदाज से चाहो
कि वो तुम्हे मिले या न मिले
पर जब भी उसे प्यार मिले तो
तुम याद आ जाओ उसे

पता नही क्या क्या विटामिन है तुझमे
तेरा दीदार न करलू तब तक
कमजोरी सी लगती है

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50Next page

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button